Dark Mode
Logo

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से वरुण गांधी को मिला न्यौता, कहा- देश की बात विदेश में करने का कोई शौक नही।

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी लंदन में दिए अपने बयानों को लेकर चर्चा में हैं। बीजेपी लगातार राहुल गांधी पर हमलावर है और उनसे संसद में माफी मांगने की बात कर रहे हैं। इस बीच कांग्रेस सांसद राहुल गांधी गुरुवार को संसद पहुंचे और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला से मुलाकात कर अपनी बात रखने के लिए समय मांगा। इसके साथ ही राहुल ने कहा कि वो सदन में आकर सत्ता पक्ष के सारे सवालों के जवाब देंगे। इस बीच बीजेपी सांसद वरुण गांधी को भी ब्रिटेन की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से मोदी सरकार की परफॉर्मेंस पर बोलने के लिए बुलाया गया है लेकिन वरुण गांधी ने ऑक्सफोर्ड के इस न्योते को विनम्रता के साथ ठुकरा दिया। अपनी ही सरकार के खिलाफ खुलकर बोलने वाले वरुण गांधी ने कहा कि उन्हें देश की बातें विदेश में करने का शौक नहीं है। 

 

वरुण ने क्यों ठुकराया न्यौता

 

दरअसल लंदन की प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी ऑक्सफोर्ड से बीजेपी के पीलीभीत से सांसद वरुण गांधी को मोदी सरकार के परफॉर्मेंस पर बोलने के लिए निमंत्रण मिला था। उन्हें The House Belives Modi Is On The Right Path विषय पर बोलना था। लेकिन वरुण गांधी ने ऑक्सफोर्ड के इस न्यौते को ठुकरा दिया। ऑक्सफोर्ड से मिले न्यौते को ठुकराते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें इस तरह के मुद्दों को देश में ही उठाने चाहिए और विदेश में इसपर बात नहीं होनी चाहिए। वरुण गांधी ने कहा कि उन्हें देश की बात विदेश में करने का कोई शौक नहीं है। वरुण ने कहा कि उन्हें ऐसा लगाता है कि इस तरह के मुद्दों पर देश के अंदर ही बोलने के कई अवसर आएंगे। 

 

आपको बता दें कि बीजेपी सांसद वरुण गांधी को यह न्यौता ऑक्सफोर्ड यूनियन के अध्यक्ष मैथ्यू डिक ने भेजा था। ऑक्सफोर्ड यूनियन से बीजेपी सांसद वरुण गांधी को ही चुनने को लेकर भी पूछा गया था, तो जवाब में कहा गया कि, वरुण गांधी कई सालों से लगातार राजनीति में सक्रिय हैं और वो बीजेपी सांसद के नाते शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में काफी काम किया है। 

 

वहीं वरुण गांधी ने ऑक्सफोर्ड से मिले इस न्यौते पर आभार जताते हुए कहा कि, यह उनके लिए सम्मान की बात है। भारत जैसे लोकतंत्र में किसी सामान्य नागरिक के लिए ऐसे कार्यक्रमों में भाग लेना और बहस के स्तर को नई ऊंचाई देना एक छोटा सा प्रयास है। मैं इसके लिए यूनियन को धन्यवाद देना चाहता हूं लेकिन मुझे जिस विषय पर बोलने के लिए बुलाया गया है उसका पहले से ही निष्कर्ष पता है। ये कार्यक्रम इसी साल अप्रैल से जून के बीच होने वाला था। वरुण गांधी के न्यौते ठुकराने पर ऑक्सफोर्ड यूनियन के अध्यक्ष डिक ने कहा कि वो इस मुद्दे पर कुछ भी नहीं कहना चाहते हैं।

 

वरुण गांधी पीलीभीत से बीजेपी के सांसद हैं लेकिन वो लगातार अपनी ही सरकार के खिलाफ मुखर रहते हैं। जनता से जुड़े मुद्दों को वरुण लगातार उठाते रहते हैं। कई मंचों से उन्होंने मोदी सरकार की नीतियों पर उन्होंने आवाज उठाई है। हलांकि वरुण गांधी के इस तेवर का बीजेपी ने कभी जवाब नहीं दिया है। वरुण गांधी के इस तेवर को देखते हुए कई बार ऐसी अटकलें लगाई गई थी की वो कांग्रेस या फिर समाजवादी पार्टी में शामिल हो सकते हैं। लेकिन उन्होंने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। 

Share this article on WhatsApp, LinkedIn and Twitter

Comment / Reply From

You May Also Like

SHOW MORE

OR BROWSE A CATEGORY:

NEWSLETTER.

Sign up to receive email updates on news from our speakers, interviews and events.